बाप ने बेटी को चोदा

मेरा नाम ज़रीना है. आज मै आपको अपनी आत्मकथा बताऊंगी जिसमे मैंने बताया है की मैंने बड़ी बेटी होने का किस तरह से फ़र्ज़ निभाया है.
मेरी जिन्दगी का सबसे काला दिन वो था जब मेरी अम्मा का इंतकाल हो गया . मेरे लिए अब अधिक पढ़ना मुश्किल हो गया . किसी तरह से घर चल रहा था . लेकिन हम लोग इसमें खुश रहा करते थे .
अम्मा की मौत के 3 महीने के बाद एक दिन मेरी दूर की रिश्ते की मौसी मेरे यहाँ आई . वो बगल के ही मोहल्ले में रहती थी . मौसी ने मुझसे कहा – तुम्हारे अब्बा दुबारा शादी करना चाहते हैं .

ये सुन कर मेरे तो होश उड़ गए . अब्बा की उम्र लगभग 45 साल थी . इस उम्र में वो शादी क्यों करेंगे ? शादी करने के बाद परिवार में और भी खर्च बढ़ जाएगा . सौतेली माँ आने के बाद मेरा और मेरी दो छोटी बहनों का क्या होगा . उन्हें तो स्कूल भी नहीं जाने दिया जाएगा . ये सभी बातें सोच कर मै परेशान हो गयी .
मैंने मौसी से पूछा – मौसी घर का काम तो मै कर ही देती हूँ . खाना -पीना से लेकर अपनी बहनों की देख भाल भी कर देती हूँ . फिर अब्बा दूसरी शादी क्यों कर रहे हैं ?
मौसी ने कहा – मर्द को सिर्फ खाना -पीना ही नहीं चाहिए . उसे शारीरिक सुख यानी सम्भोग सुख भी चाहिए . तुम सम्भोग का मतलब तो जानती हो ना ?

मौसी से मुझे इस तरह के खुले शब्दों में उत्तर की आशा नहीं थी . लेकिन मौसी ने वही कहा जो हकीकत था.
मैंने धीरे से सर झुका कर कहा – हाँ जानती हूँ .
मौसी ने कहा – सम्भोग का सुख तो केवल औरत का शरीर ही दे सकता है ना ?.
मैंने कहा – हाँ .
मौसी ने कहा – इसलिए तुम्हारे अब्बा शादी करना चाहते हैं .
कह के मौसी मेरी दोनों बहनों को ले कर अपने घर चली गयी .
जाते जाते बोली – कल शाम तक दोनों को वापस छोड़ आऊँगी . वैसे भी कल रविवार है. कल स्कूल भी बंद है.

मेरे दिमाग में मौसी के द्वारा मेरे अब्बा की शादी की बातों से काफी चिंता उमड़ पड़ी . मै नहीं चाहती थी की अब्बा शारीरिक सुख के लिए दूसरी शादी करें , जिसके कारण हम तीन बहनों की जिंदगी खराब हो जाए और घर में हमेशा झंझट बना रहे . लेकिन एक मर्द को शारीरिक सुख भी तो चाहिए. यदि मैं जोर जबरदस्ती कर के अपने अब्बा को शादी से रुकवा भी दूँ तो क्या गर्म मर्द का भरोसा ? हो सकता है कि अब्बा किसी बाजारू औरत के चक्कर में पड़ जाएँ. तब तो और भी खराबी होगी. इसलिए मैंने एक कठोर फैसला लिया कि अगर अब्बा को शारीरिक सुख चाहिए तो वो मै उन्हें दूंगी लेकिन उन्हें शादी नहीं करने दूँगी . मैंने ठान लिया कि मै आज की ही रात अपनी कुर्बानी दूंगी ताकि ये घर और मेरी बहनों की जिंदगी तबाह होने से बच जाए .

रात को अब्बा घर पर आये . सभी का हाल चाल पूछ कर खाना पीना खा कर वो अपने कमरे में सोने चले गए . रोज़ रात को सोने से पहले उन्हें एक गिलास दूध पीने की आदत थी . पहले माँ रोज़ एक गिलास दूध दिया करती थी . माँ की मौत के बाद दूध देने की ज़िम्मेदारी मेरी थी . मुझे आज अपनी कुर्बानी देनी थी . इसकी पूरी तयारी मैंने कर ली थी . जब अब्बा घर में नहीं थे तो मैंने शाम में ही उनके कमरे में से वियाग्रा की गोली चुरा कर अपने पास रख ली
थी .

शायद वो इस गोली का इस्तेमाल मेरी अम्मा के साथ सम्भोग करने के लिए किया करते थे . मै इतनी भी बच्ची नहीं थी कि इस वियाग्रा का मतलब ना समझूं . लड़कियों को दसवीं पास करते करते इन सभी बातों का भी ज्ञान हो जाता है. खैर ! मैंने उस वियाग्रा की गोली पीस कर दूध में मिला दिया और चम्मच से अच्छी तरह से मिला दिया . घर के सभी बत्ती बंद कर के मैंने अपने कपडे बदले और पतली सी नाईटी पहन कर दूध का गिलास ले कर अब्बा के पास पहुची . अब्बा भी अपने कपडे बदल चुके थे और वो सिर्फ लुंगी पहने हुए थे . वो गर्मियों में सिर्फ लुंगी पहन कर ही सोते थे . मैंने उनको दूध दिया . उन्होंने बिना कुछ पूछे वो दूध पी लिया औरबोले – जरीना, अब तुम जा कर सो जाओ .

मैंने कहा – अब्बा आज आयशा और सुहानी भी यहाँ नहीं हैं और मुझे अकेले सोने में डर लगता है. क्या मै आपके साथ सो जाऊं?
अब्बा ने हँसते हुए कहा – अरे , इतनी बड़ी हो गयी हो . और तुम घर के सारे काम भी कर लेती हो लेकिन अब भी तुम डरती हो ? चलो कोई बात नहीं , मेरे साथ ही सो जाओ . ज़रा ये लाईट बंद कर देना .

मैंने रूम की लाईट बंद कर दी . अब रूम में पूरी तरह अन्धेरा हो चुका था . एक बार तो मेरी रूह कांप उठी लेकिन जैसे ही मेरे सामने मेरी दोनों छोटी बहनों का चेहरा आया मैंने दिल को कड़ा किया और घर की सुख की चाहत में मैंने अल्लाह से दुआ माँगा कि आज मै अब्बा को

शादी नहीं करने के लिए मना ही लूंगी चाहे मुझे इसके लिए कोई भी कुर्बानी देनी पड़े . ये सोच कर मै अब्बा के बगल में लेट गयी .
मै जानती थी कि वियाग्रा 1 घंटे के बाद अपना असर शुरू करेगा . मैंने 1 घंटे तक इंतज़ार किया . और सोने का नाटक करती रही . 1 घंटे बाद मैंने महसूस किया कि अब्बा मेरे कमर पर हाथ फेर रहे थे. मैंने भी धीरे धीरे मैंने अपनी नाईटी को अपने कमर तक उठा लिया . धीरे धीरे मै अब्बा के शरीर से सट गयी . मेरे अब्बा पर अब धीरे धीरे वियाग्रा का असर शुरू हो रहा था. लेकिन वो इस से अनजान थे . मैंने जान बुझ कर अपनी एक टांग अपने अब्बा के शरीर पर रख दिया . अब्बा ने किसी तरह का प्रतिरोध नहीं किया . वो मेरी चिकनी टांग पर अपने हाथ रख कर धीरे धीरे सहलाने लगे. मेरी हिम्मत थोड़ी और जागी . मै अब्बा के शरीर से पूरी तरह चिपक गई. अब्बा ने अपनी बांह में मुझे लपेट लिया .

मैंने अपने चूची का दवाब उनके बदन पर बढ़ाना शुरू किया .अब्बा मेरी जाँघों को सहला रहे थे . कुछ देर तक इसी हालत में रहने के बाद मैंने अपनी चूची को उनके शरीर पर रगड़ना शुरू किया. और अपने बुर को उनके जांघ पर घसने लगी. उन्हें भी अब मेरा स्पर्श अच्छा लग रहा था. अब मैंने अपनी टांगों को इस तरह से उनके कमर पर रखा कि मेरा बुर उनके लंड से सट सके . या, अल्लाह ! उनका लंड पूरी तरह से खड़ा था और मेरी चूत के ऊपर चुभ रहा था. मैं अपने चूची को अब्बा के सीने में जोर से सटा रही थी. मेरी सांस तेज़ हो चली थी और दिल जोर जोर से धड़क रहा था . अब्बा ने अपनी बाहों को मेरी पीठ पर रखा और मेरे बदन को कस कर अपनी शरीर की तरफ खीचने लगे और मेरी चूची को अपने सीने से जोर से दबाने लगे. मैंने किसी तरह का प्रतिरोध नही किया . अब हम एक दुसरे से आलिंगन थे लेकिन कपडे पहने हुए ही थे . मैंने अपना बुर से उनके लंड पर दवाब बनाना शुरू किया .

मैंने जान बूझ कर पेंटी और ब्रा नहीं पहना था . अब्बा ने मेरी जांघो पर हाथ फेरना चालू किया . और हाथ फेरते फेरते मेरी नंगी गांड पर हाथ फेरने लगे . अब मै समझ गयी कि अब्बा अब मेरे वश में आ सकते हैं . मैंने जान बुझ कर जागने का नाटक किया और
धीरे से कहा – अब्बा मुझे गुदगुदी हो रही है.


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


rat me maa ko chodame bhabhi bhabhi ko apne dost shiva se chudwai gaihindi sex story behansadhu baba ki chudaimaa ko choda antarvasnaहिंदी देसी देहाती पोर्न वीडियो मनपसंदपापा सासु मां को घोड़ी बनाकर चोद रहे थेchudai comixbari bhabhi ki chudaichut land hindi storylarke ke chudailund choot ki photobur me chodanaukrani ke sathhindi sex story gharchudai chachi ki kahanimadaM ne chudai gyan diya ki xxx kahanichut ki chudai hindihindi sexe storyantarvasnana pdfreal suhagrat storybur ki chudayibudhi aurat ki chudaiनौकर ने मालकीन के बेटी को चोदा Xxx imegsghar me chudai ki storymeri beti ki chudairaseeli choothindisaxystoryindian desi chudai storyHindi sex story biwi nay mana kr Diyahindi font chudai ki kahaniMaa ki gaand Maari jungle Mai xxx kahaniabhai ko chut di or bhai ne land diyama antarvasnamastram ki chudai ki storypapa ne choda hindivabiki chudaigaon ki auntymakanmalkin ki dardnak gand marimosi ki chutchachi ki chaddiindian chudai ki kahani hindi meV pron Kumari ladki dudh nukal kebahu aur sasur ka sexbahan bhai ki chudai storychudai kahani hindi storyकामवाली सेक्स कथाhindilundkikahanibhabhi ko chodna haimota lund ka photochachi sex story hindibiwi ki chudai dost ke sathbollywood heroin sex storysex story language hindiaunty ke sath sexwww sexi chudaibhabhi ko choda sexy storychut ki chudai in hindi storyक्सक्सक्स मस्तराम स्टोरी जंगल में बहन कोdesy chutmanoranjan kahaniyaXxx kahaniya dadr bhari chodaebhabhi aur bhatiji ki chudaibhai bahan sex hindi story शालूभाभी कि फोटोladki ladka sexdede ki chudairajasthani sex storysuhagrat chudai videoantravashana comharyanvi chootsaxy wapक्सक्सक्स माँ को जबरदस्ती छोडा फोटो के साथ संगरह कहानीsex vartachut me landmaa aur behen lesbian sex dekh beta vi chodamuslim famliy ki ladki antarvsna sardar ke sa35sal umar sarri chachi ki bur gad sexbhai bahan chodae ki kahaniya hindi kheto mey chodae .ChodayrandiSage bhai bhai ki gadcudai gay hindi storybatromsexy कहानियोंvidhwa didi ki chudaibhabhi ki chudai xxx hindidesi sexy pornchudai ki kahani didi kibhabhi ki chudai wali storystory for chudaisagi chachi ki chudaihot hindi khaniyabhai behan ki hindi kahanidehati booraunty ki chut mein Pani Aaya boltikahani.comxxx SUHAGRATPHILIBARbua ki chudai sex storyXxx.pati ke bahar jaane ke baad mere yoga टीचर se meri chudai ki kahaniya.comHindirapestorys.ladki ki nangi chudaihindi sexy khahanihello friends mai apki seema indore me rahti hu sex stories