दिलबर हसीं अब चुद भी जाओ

Dilbar hasin ab chud bhi jao:

hindi sex stories

मेरा नाम मयंक है और मेरी उम्र 35 वर्ष है। मैं एक शादीशुदा पुरुष हूं और मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूं। मुझे इस कंपनी में जॉब करते हुए काफी वर्ष हो चुके हैं। मैं जब यहां शुरुआत में जॉब पर लगा था तो मैं अपने काम ही सीख रहा था। धीरे-धीरे मैं अब काम सीख चुका हूं और इस कंपनी का सबसे पुराना एंप्लायर हूं। मैंने जबसे नौकरी करनी शुरू की है तब से ही मैं यहां पर हूं। इसलिए मेरी मेरे बॉस से बहुत अच्छे संबंध है और वह मेरे घर पर अक्सर आते जाते रहते हैं। उन्हें जब भी कुछ काम होता है तो वह सबसे पहले मुझे ही पूछते हैं और कहते हैं कि हमें इस बारे में क्या करना चाहिए। मैं उन्हें हर चीज का सलूशन सही समय पर दे देता हूं। जिससे वह मुझसे बहुत खुश भी रहते है और वह मुझ से बहुत ही प्रभावित भी हैं। बीच में एक समय ऐसा भी आ गया था जब मैं वह कंपनी छोड़ने वाला था। परंतु मेरे बॉस ने मुझे कहा कि तुम यह कंपनी क्यों छोड़ रहे हो। तब मैंने अपनी समस्या बताई। हमारे ऑफिस में एक व्यक्ति थे जो कि हमेशा ही मेरे काम की बुराइयां करते रहते थे। मैंने उन्हें यह बात बताई और मेरे बॉस ने उन्हें जब अपने कैबिन में बुलाया तो वह उन्हें समझा रहे थे। परंतु वह व्यक्ति उन पर ही गुस्सा हो गए और मेरे बॉस ने तुरंत ही उन्हें ऑफिस से निकाल दिया और मुझे कहने लगे कि तुमने बहुत ही अच्छा किया जो मुझे बता दिया। नहीं तो इससे काम में बहुत ज्यादा फर्क पड़ता है और तुम अच्छे से काम भी नहीं कर सकते। ऐसे लोग ही ऑफिस का माहौल खराब करते हैं।

मेरी शादी को भी बहुत वर्ष हो चुके हैं मेरी पत्नी का नाम वैशाली है और वह एक बहुत ही अच्छी महिला है। मैं उससे बहुत ही प्यार करता हूं और वह भी मुझसे बहुत प्यार करती है लेकिन एक दिन हमारे ऑफिस में एक लड़की आई। उसका नाम मोनिका है। वह भी बहुत ही सुंदर थी। जब मैंने उसे पहली बार देखा तो मुझे ना चाहते हुए भी उसकी तरफ एक आकर्षित करने वाली बात लग रही थी और मैं उसकी तरफ आकर्षित होता चला गया लेकिन मुझे यह भी डर था कि मैं शादीशुदा हूं और कहीं उसकी तरफ आकर्षित होता चला गया तो हमारी शादी पर इसका गलत प्रभाव ना पड़ जाए। इस वजह से मैं उससे थोड़ा कम ही बात किया करता था लेकिन जब मोनिका को हमारे ऑफिस में कुछ समय बीत गया तो उसके बाद वह मुझसे अच्छे से बात करने लगी और हम दोनों की नजदीकियां पता नहीं कब बड़ गई मुझे मालूम भी नहीं पड़ा। मैंने जब उसे अपनी शादी की बात बताए तो वह मुझे कहने लगी कि मुझे कोई आपत्ति नहीं है अगर आपने शादी भी की है। मैं तो सिर्फ आपसे प्रेम करती हूं और आपके साथ ही रहना चाहती हूं। मैंने उसे बताया कि मैं तुम्हारे साथ नहीं रह सकता लेकिन मैं भी अब विवश हो गया था कि मैं मोनिका के साथ रहूं। मैंने इस बारे में वैशाली से बात की। वैशाली बहुत ही सीधी और साधारण महिला है। उसने मुझे कहा कि मुझे कोई भी परेशानी नहीं है यदि आप उस से प्रेम करते हैं तो आप उससे शादी कर सकते हैं और आपको अगर मुझे डिवोर्स देना है तो आप मुझे डिवोर्स भी दे सकते हैं। मैंने वैशाली को कहा तुम हमारे साथ हमारे घर पर ही रह सकती हो और तुम्हें इससे कोई भी परेशानी नहीं होगी लेकिन वह कहने लगी कि मैं अब अपने घर ही चली जाऊंगी। मैंने उसे कहा कि मैं तुम्हें हर महीने खर्चे भिजवा दिया करूंगा। अब वह यह कहते हुए अपने घर चली गई और मैंने मोनिका के साथ शादी कर ली।

जब मैंने मोनिका से शादी की तो मैं बहुत ही खुश था और मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मुझे जीवन की सब खुशी मिल गई हो। परंतु मुझे पता नहीं था कि मोनिका के अंदर बहुत ही मैल भरा हुआ है और वह एक झगड़ालू किस्म की लड़की है। कुछ दिनों तक तो वह मेरे माता-पिता के साथ बहुत ही अच्छे से रही और उसने उनका बहुत ही अच्छे से ध्यान रखा लेकिन फिर जब समय बीतता चला गया तो वह मेरे माता-पिता के साथ बदतमीजी से बात करने लगी और उनके साथ झगड़ा करने लगी। मैंने उसे समझाया की तुम फालतू में उनके साथ क्यों झगड़ा करती हो लेकिन वह मुझे ही गलत ठहराती और मुझसे भी झगड़ा करने लग जाती। अब मैं बहुत ही परेशान हो गया था और उसे मैंने कई बार समझाया कि तुम इस तरीके से मुझसे भी बर्ताव मत किया करो और मेरे घरवालों से भी तुम्हें इस तरीके से बर्ताव करने की आवश्यकता नहीं है लेकिन वह बिल्कुल भी मानने को तैयार नहीं थी। यदि कभी मेरी मां उसे एक पानी का गिलास भी मंगवा लेती तो वह मेरी मां को उल्टा जवाब दे देती और कहती कि तुम खुद ही वह पानी का गिलास ले आओ। मुझे अब लगने लगा कि मैंने बहुत बड़ी गलती कर दी मोनिका के साथ शादी करके। मुझे वैशाली की बहुत याद आने लगी और मैं सोच रहा हूं कि वह कितनी सिंपल और साधारण लड़की थी। वह मेरी हर बात को मानती थी और मेरे घर वालों का भी बहुत ध्यान रखती थी। उसने कभी भी मेरी मां से ऊंची आवाज में बात नहीं की। मुझे अपनी गलती का एहसास होने लगा था लेकिन अभी मुझसे गलती हो चुकी थी और उसे किसी भी तरीके से ठीक नहीं किया जा सकता था। मैं सोचने लगा कि कैसे मैं इस गलती को ठीक करूं। मैंने एक दिन वैशाली को फोन भी किया, तो वह मुझसे पूछने लगी कि आप ठीक तो हैं। मैंने उसे कहा हां मैं ठीक हूं और मैं उससे उसके हालचाल पूछने लगा। वह मुझे कहने लगी कि मैं भी घर में ठीक हूं लेकिन फिर ना जाने मुझे क्या हुआ, मेरे अंदर उससे कुछ कहने की बिल्कुल भी हिम्मत नहीं हुई और मैंने फोन काट दिया।

मैं ऐसे ही बैठ कर सोचने लगा और मोनिका मेरे पास आई। मैंने मोनिका को बहुत समझाया उसे कहा कि तुम घर में झगड़ा मत किया करो लेकिन वह मानने को तैयार नहीं थी और मैंने उसे बड़ी तेजी से अपने नीचे दबा दिया और उसे कस कर पकड़ लिया। मैंने  उसकी सलवार को उतार दिया और अपने खड़े लंड को उसकी गांड के अंदर घुसेड़ दिया। जैसे ही मैंने अपने खड़े लंड को उसकी गांड में डाला तो वह चिल्लाने लगी और कहने लगी कि तुम यह क्या कर रहे हो तुमने मेरी गांड के अंदर अपना लंड डाल दिया है। मैंने उससे कहा कि तुमने मेरी जिंदगी की भी गांड मार कर रख दी है इसलिए आज मैं तुम्हारी गांड मार कर अपनी इच्छा को पूरी करूंगा। मैं उसे ऐसे ही धक्के देने लगा मैं इतनी तीव्र गति से उसे धक्के दे रहा था कि उसका पूरा शरीर हिलता जा रहा था। उसकी गांड से खून भी आने लगा था और मेरा लंड भी छिल चुका था लेकिन मेरे अंदर बहुत ही गुस्सा भरा हुआ था। मैं उसे ऐसे ही तीव्र गति से धक्के देने लगा। जब मैंने उसे धक्का दिया कि उसका शरीर पूरा हिलता और उसकी चूतडे मुझसे टकराने लगी वह लाल हो चुकी थी। मैंने उसके पूरे बदन पर अपने हाथों से नाखून मारते दिए थे और उसके स्तनों को बड़े जोर जोर से दबा रहा था।

मैंने उसके कंधों को पकड़कर अब धक्का मारना शुरू किया जब मैने उसको पकड़ा तो मैंने इतनी तेजी से झटका मारा कि मेरे अंडे भी उसकी गांड पर लग रहे थे और मैंने उसकी चूतड़ों को अब अपने हाथों से खोल दिया और उस पर बड़े ही तेजी से मैं  प्रहार करने लगा। मै इतनी तेजी से उसकी गांड में लंड अंदर बाहर कर रहा था कि वह बहुत तेज चिल्लाने लगी। उससे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था वह ऐसे ही लेट गई और मैं अब भी उसकी गांड मार रहा था। मैंने बड़ी जोर से उसकी गांड मारना शुरू कर दिया और इतनी तेज तेज में झटके दिए जा रहा था। उसने अपने हाथ पैरों को पूरा चौड़ा कर लिया लेकिन मैंने उसे छोड़ा नहीं और उसके शरीर से पूरा पसीना निकलने लगा। मैं भी पसीना पसीना हो गया लेकिन कुछ देर बाद उसकी गांड से कुछ ज्यादा ही गर्मी निकलने लगी और मैं उस गर्मी को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था और मेरा वीर्य बड़ी तेजी से उसकी गांड में जा गिरा। मेरा वीर्य बडी तेजी से गिरा तो वह बहुत तेज चिल्लाई और मैंने अब अपने लंड को बाहर निकाल दिया। जब मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो वह मुझे कहने लगी कि आज के बाद मैं कभी भी किसी से बदतमीजी से बात नहीं करूंगी। मैंने उसे कहा कि तुम अगर किसी से इस तरीके से बात करोगे तो मैं तुम्हारी गांड हमेशा मारूंगा।

 


Comments are closed.



Online porn video at mobile phone


hindi font indian sex storiesmoti chachi ko chodadesi aunty chootchut land sexbehan ki chudai in hindiSexe stoare hindiAunty ne needh mai jabardsti muh mai lund liya hindi sex story18 chutkuwari chut marisexy larki ki chudaisex kahani hotantravasana comsavita bhabhi ki khaniyabaap beti ki chudai kahanipapa aur beti ki chudai ki kahanisuhagrat sexxsexy chudai ki khaniyacollege mein raging mein chudai ki kahaniUncal ne ki man ki gang baig chudai hindi sex kahaniwww hindi sex khani comchut chudaisexy hindi khaniyahot sexy kahani in hindigangal sexbhabhi ki raatChut marwane waali kinner ki gand bhi maari hot sex storieschuchi ka doodhchudai ki kahani bhai behanmaami fuckgili chootrenu chutchachi chut storybhai ke sath sex storyamulya sexrandi family gali choda chadi storybhikari ne chodachodai sexybahbi ki chodaihindi sex story in antarvasnaholi me ft gyi cholibhag 12maa ke chudai ki kahanilund or chut sexhindi bhai behan chudai storyHindi sex stori ma bete ki manali mephotoसादी के दिन चुदाई xxx maa or beti lasbin sex story in hindihindi sex katha storyland chut ki kahani hindi meMeri phuti kismat chudai ki kahani photos hindi mejagal sex comincest hindi kahaniananya ki chudaichamakti chutchut ki hindi storybaap beti kahani hinditop sexy hindi storykinnar sex photodesi sasur bahu sexmeri suhagrat ki kahanijangal me mangal pornmama se chudibaap beti ki chudai ki kahani hindigand marwanaबुर1सेकसीNoukri aisi chut mili chodne koEk choti si bhool or me chud gaibest hindi sex storiesमुठ मारना सेक्स स्टोरीजbhabhi ki chudai ki story hindi mebua ke chodachudai kahani hotchut ki pyas ki kahanimaa or behan ki chudaiएक की कहनी फैजाबाद की मस्लिम बुर चुदाई की लडकी कहनीlund choot mainsex chut chudaiwww sex kahaniland ki chusaisawita bhabhi ki chudaiindian ladkiyo ki chudaichudai ki kahani hindi languagemaa ki gand ki chudaiमेरी गोवा में मस्त चुदाईnangi sexy storysasur bhau sexdamad aur saas ki chudaipati ke samne biwi ki chudaimeri behan ki chutkhoon wali chutchudai ki kahani maa ki jubanichachi ki burchacha bhatiji sex storymaa ko choda bathroom mebhabhi and devar sex storyDidisexkahanicodaee ka vodovohindi sexeydesilesbians